Saturday, October 23

कामगार महिला के साथ इतनी बेदर्दी, की हर अरब में रहने वाला कामगार रो बैठे, काफ़िल ऐसे भी हो सकते हैं क्या जनाब ?

अपनों से दूरी बनाने का ग़म, अरब देश में रह रहे कामगारों के बारे में अक्सर लोग यह सोचते हैं कि यह अरबों डॉलर का देश है और लोग अरबों डॉलर कमाता जाने के साथ ही यहाँ राजा बन जाते हैं हालाँकि जो यहाँ की सच्चाई है वह जानते ही आपके आँखों से आँसू छलक जाएंगे.
 
फिलीपींस की एक महिला कामगार के साथ जो हुआ वह जानकार आप के रोम रोम खड़े हो जाएंगे, फिलीपींस कि इस महिला कामगार ने लगातार 11 साल से अपने एक कुवैत मालिक के लिए काम जारी रखा है यह शादीशुदा महिला कामगार तीन बच्चों की माँ भी है.
 
एक अति धनी स्पॉन्सर के यहाँ एक महिला कामदार लगभग एकग्यारह साल से काम कर रही थी इस वक़्त में एस बाउंसर के छोटे से वक़्त बच्चे अब बड़े हो चले हैं महिला ने लगभग माँ होने का हर फ़र्ज़ निभाया लेकिन जो बीते दिन हुआ वह किसी बुरे सपने से कम नहीं शायद उसे सुनकर अरब में आने वाले हर एक कामगार रू बैठेगा.

उसी महिला कामगार को कुवैत के धनी स्पॉन्सर के बेटे ने महिला के ज़बरन बाल खींचे काफ़ी बेदर्दी से पिटाई की थी और तब तक मारा जब तक कि वह फ़र्श पर गिरकर राम की भीख माँगने लगी, इतना ही नहीं महिला के ऊपर स्पॉन्सर के बेटे ने हार चोरी करने के आरोप लगाए और लात घूसों थप्पड़ों से लगातार मारा महिला पैर पकड़कर भीख माँगते रही और कहते रही कि मैंने एक साल से आपके नौकरी में ख़ुदको चूका है और आज तक मैंने एक सुई तक नहीं उठायी तो आज मैं हार क्यों उठाऊँगी अगर आप मुझे निकालना चाहते हैं तो ज़रूर निकाल दें लेकिन मुझे और मेरे ऊपर अब और ज़ुल्म न करें.
 
Sponser का बेटा कुछ नहीं सुना और लगातार लात घूसों की बरसात उसकी पीठ पर कर दे रहा था जिसके वजह से महिला कामगार खून की उल्टियां तक करने लगी उसके आँसू जगह उसके हाथों में इतनी गंभीर चोटें आयी कि वह ख़ुद अपना खाना तक नहीं खा पा रही थी और सामने खाना होते हुए भी भूखे तड़पने को मजबूर थी.
 
 
अब बड़ा सवाल यह है कि क्या सब कुछ देने के बाद भी जो कामगार, महज अपने वेतन के लिए हाथ फैलाते हैं, उनको इस के बजाय लात घुसो देना कितना जायज़ हैं, क्या अरब देश में इंसानियत नाम की कोई चीज़ नही हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: