कामगारों को हो रही परेशानी, देश से बाहर जाना मुश्किल, अधिकारियों ने लगाई रोक

2 min


0
  • नई सिविल आईडी सिस्टम के साथ हवाई अड्डों और बैंकों में समस्याओं का सामना कर रहे हैं कामगार
  • यूरोपीय संघ के देशों में अपनी गर्मी की छुट्टी बिताने वाले प्रवासियों को भी हो रही है दिक्क्त
  • पासपोर्ट रद्द होने के बाद नई सिविल आईडी प्रणाली के कारण हो रही परेशानी
  • उन देशों में पासपोर्ट अधिकारियों ने उन्हें प्रस्थान करने से कर दिया मना
  • अधिकारियों के अनुसार सिविल आईडी नहीं ले सकती है निवास आईडी स्थान और न ही इसमें एक्सपायरी डेट
  • कुवैती दूतावासों की आपातकालीन लाइनों से संपर्क कर चुके हैं एक्सपैट्स
  • पर नहीं मिली विमान पर चढ़ने की अनुमति
  • एक्सपेट्स को करना पड़ रहा है कुवैत में आईडी पर नाम बदलने के संबंध में भी समस्या का सामना
  • आईडी में नागरिक जानकारी में लैटिन में पहले और आखिरी नामों का उल्लेख है, जिसे बैंक करते हैं अस्वीकार
  • कर्मचारी आईडी में लैटिन नाम केवल दो भागों में है, जो है अपडेटिंग सिस्टम के विपरीत
  • जो लैटिन नाम के साथ अरबी नाम के समझौते के लिए है, इस चार भागों का चाहिए होना
  • पासपोर्ट के नाम के साथ मैच होना चाहिए सिविल आईडी का नाम

 
Expatriates spending their summer holiday in EU countries are reportedly facing problems due to the new civil ID system after the residency sticker on the passport was canceled.
They said passport officials in those countries refused to let them depart because the civil ID does not carry the words “residency ID” and does not indicate an expiry date.

Other expats said they contacted the emergency lines of Kuwaiti embassies, who called the airports to tell them about the new system and allow the expats to board the aircraft.
Meanwhile, expats face another problem in Kuwait with regards to changing names on the ID, as the civil information mentions the first and last names in Latin, which banks reject and do not update their data, which is done annually.
Some expats said that while at the bank to update their data, employees reject the ID because the Latin name is only of two parts, which is contrary to the updating systems which call for the agreement of the Arabic name with that of the Latin one, which must be of four parts, according to Kuwait Times.


Like it? Share with your friends!

0
Ravi Shekhar

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *