ऐ बेटी हमें मांफ करना जो नहीं बचा सका तेरी जान को, दोष कानून का दूं या कोसूं अपने भगवान को

1 min


0

बिहार में क्राइम को लेकर नीतीश सरकार के मंत्री, विधायक और नेता बढ़ चढ़कर दावा कर रहे हैं. सभी क्राइम बढ़ने की बात को ऐसे झुठला दे रहे हैं जैसे कुछ हुआ ही नहीं है और जनता झूठ बोल रही है. यहां तक तो ठीक है, क्योंकि मंत्री और नेताओं की मजबूरी होती अपनी अपनी सरकार की तारीफ करना और कमियों पर पर्दा डालना, लेकिन ये बात बिहार की जनता हजम नहीं कर पा रही है कि सूबे के मुख्यमंत्री ने भी क्राइम बढ़ने की बात को झुठला दिया. उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि बिहार में क्राइम घटी है, सिर्फ मीडिया वालों ने ऐसा माहौल बना दिया है. जिससे यह लग रहा है कि क्राइम बढ़ी है.

आपको बता दें कि आज एक बार फिर से ऐसी घटना सामने आई है जो नीतीश सरकार के कानून राज की पोल खोल रही है और उनके क्राइम घटने की दावे को झुठला रही है, इस घटना को देख आपके मन में पहला सवाल यह आएगा कि जुर्म करने वालों के मन में कानून का डर क्यों नहीं है. क्या किसी की जान और इज्जत रास्ते पर गिरी हुई चीज है? जिसे कोई भी उठाकर चल जाएगा. लेकिन यह सवाल व्यर्थ ही हिया क्योंकि हो तो ऐसा ही रहा है.

बता दें कि बिहार मधुबनी जिलें में एक युवती के निर्मम हत्या की घटना ने लोगों और उसके परिवार वालों के आँखों में आसुओं की बाढ़ ला दी है. मधुबनी जिला के फुलपरास थाना क्षेत्र में खुटौना प्रखंड में हुई इस वारदात ने लोगों को झकझोर दिया है. जिसके बाद से यहां के लोग आक्रोश में हैं. यहां के एक 19वर्षीय लड़की की बहुत ही बेरहमी से हत्या कर दी गई है. इतना ही नहीं उसे मारने के बाद बांस से टांग दिया गया है. जिसे देखकर लोगों के रूह कांप गयी है. कुछ लोग तो यह कह रहे हैं कि
दोषियो को जल्द पकर के उसी बांस में टँगा जाय. हालांकि अब जो करना है पुलिस ही करेगी. पुलिस को इस बात की जानकारी दे दी गई है.


Like it? Share with your friends!

0
Digital Desk

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *