Thursday, December 2

एक्शन में आये भागलपुर के सिंघम एसएसपी, दिया इन सबकी गिरफ्तारी का आदेश

भागलपुर के सिंघम कहे जाने वाले एसएसपी मनोज कुमार एक्शन में आ गए हैं. उन्होंने तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय में सेकेंड हैंड स्काॅर्पियो खरीद की जांच को सही पाने के बाद टीएमबीयू के पूर्व प्रतिकुलपति डॉ अवध किशोर राय जो मौजुदा समय में भूपेंद्र नारायण मंडल विवि, मधेपुरा के कुलपति हैं, उनके साथ साथ सात लोगों को गिरफ्तार किये जाने का निर्देश दिया है.

नयी के नाम पर सेकेंड हैंड स्काॅर्पियो खरीद प्रक्रिया में डीटीओ कार्यालय में तैनात कर्मचारी भी प्रथम दृष्टया जांच में दोषी पाया गया है. इनके खिलाफ एसएसपी ने जांच के बाद कार्रवाई का निर्णय लिये जाने का निर्देश दिया है. इसके अलावा वत्स ऑटो मोबाइल प्राइवेट लिमिटेड के सेल्स पदाधिकारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी का निर्देश जारी किया गया है. साथ ही डीएसपी सिटी को कार्रवाई को लेकर रिपोर्ट 15 दिन के अंदर प्रस्तुत करने का निर्देश एसएसपी ने दिया.

एक्शन को लेकर अनुसंधानकर्ता को एसएसपी ने दिया यह निर्देश
-इस कांड के सत्य पाये गये प्राथमिकी/अप्राथमिकी अभियुक्तों का नाम, पता व उम्र का सत्यापन कर गिरफ्तार किया जाये और फरार हो तो इनके खिलाफ कुर्की जब्ती की कार्रवाई करें.
-सरकारी पदाधिकारी/कर्मचारियों के खिलाफ अभियोजन स्वीकृति का आदेश प्राप्त कर कांड दैनिकी में अंकित करे.
-इस कांड में शामिल डीटीओ कार्यालय के दोषी कर्मचारी के संबंध में जिला परिवहन पदाधिकारी भागलपुर से पूछताछ करें व साक्ष्य इकट्ठा कर अग्रिम कार्रवाई करें.

इन्हें किया जाएगा गिरफ्तार
बीएनएमयू के कुलपति सह टीएमबीयू के पूर्व कुलपति प्रो एके राय, वित्त अधिकारी वीरेंद्र कुमार वर्मा, तत्कालीन कुल सचिव आशुतोष प्रसाद, वित्त परामर्शी ऐनुल हक, सिविल इंजीनियर अंजनी कुमार व लेखापाल डीके मिश्रा, वत्स ऑटो मोबाइल प्राइवेट लिमिटेड भागलपुर के मैनेजर चंद्र प्रकाश के खिलाफ विश्वविद्यालय थाना में धारा 420, 409, 468, 471, 120 बी आइपीसी के तहत मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार किया जायेगा.

दोषी पाए जाने के बाद इन सभी पर होगा मुकदमा:
वत्स ऑटो मोबाइल प्राइवेट लिमिटेड भागलपुर के सेल्स पदाधिकारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जायेगी. जबकि डीटीओ कार्यालय के एक कर्मचारी की संलिप्तता के बिंदु पर जांच के बाद एक्शन लिये जाने का निर्देश जारी किया गया है. बताया जा रहा है कि इस मामले में करवाई की रिपोर्ट पुलिस उपाधीक्षक को 15 दिनों के भीतर एसएसपी को देनी होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: