आरक्षण को लेकर सीएम नीतीश का आया बड़ा बयान, कहा किसी में इतनी ताकत नहीं जो कर यह काम


देश में कुछ दिनों तक आरक्षण समाप्त करने की बात को लेकर काफी राजनीति हुई. इस मामलें में काफी बयानबाजी भी की गई. राजद के तरफ से इस मुद्दे को लेकर बीजेपी को जमकर घेरा गया. उसके बाद सीएम नीतीश ने भी इस मामले में बड़ा बयान दिया है. उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान इस मुद्दे पर यह कहा कि कुछ लोग आरक्षण समाप्त करने का डर पैदा कर रहे हैं. लेकिन आज देश में किसी में भी ताकत नहीं कि आरक्षण समाप्त कर दे.

नीतीश ने आगे कहा कि 1993 में लालू प्रसाद बिहार में मंडल कमीशन के प्रावधान पर आरक्षण लागू कर अति पिछड़ों का हक मारना चाहते थे. हमने विरोध किया. बिहार में अति पिछड़ा और पिछड़ा के लिए अलग-अलग आरक्षण से अति पिछड़ों को लाभ मिल रहा है. हमने सत्ता में आते ही पंचायत व नगर निकाय चुनाव में महिलाओं को 50% आरक्षण दिया. दलितों और महादलितों को भी आबादी के अनुरूप आरक्षण दिया. कुछ लोग सिर्फ जुबान चलाते हैं. हम काम में विश्वास रखते हैं. 2005 के पहले क्या हालत थी, किसी से छुपी नहीं है.

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा, “मैं भ्रष्टाचार से समझौता नहीं कर सकता. मैं वोट नहीं, वोटर की चिंता करता हूं. उन्होंने इशारों में लालू प्रसाद पर कटाक्ष किया, ‘राजनीति जनता की सेवा के लिए है, धनार्जन के लिए नहीं.’ बता दें कि सीएम मंगलवार को ‘समृद्ध और गौरवशाली बिहार में युवाओं की भूमिका’ विषय पर आयोजित सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे.

इस दौरान उन्होंने एक खुलासा करते हुए यह भी कहा कि महागठबंधन को बचाने के लिए हमने राहुल गांधी से भी बात की. भ्रष्टाचार के आरोप पर जनता को सफाई देने के लिए कहा, पर आरोपी बने लोगों (लालू परिजन) ने ऐसा नहीं किया. हमें गठबंधन से अलग होना पड़ा.

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

आरक्षण को लेकर सीएम नीतीश का आया बड़ा बयान, कहा किसी में इतनी ताकत नहीं जो कर यह काम

log in

reset password

Back to
log in
error: Content is protected !!