''आपमें ही ये क्षमता है कि आप नरेंद्र मोदी का मुकाबला कर सकते हैं, आप सभी विपक्षी दलों का नेतृत्व कीजिए''

1 min


0

राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को विपक्षी पार्टियों की अगुवाई करने का न्योता दिया है. उन्होंने कहा है कि नीतीश कुमार में वो क्षमता है कि वो पधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुकाबला कर सकते हैं। शिवानंद ने कहा की नीतीश जी अब मजबूरियों को छोड़िए और देशहित के लिए, बिहार की भलाई के लिए भाजपा का साथ छोड़कर देश के सभी विपक्षी दलों का नेतृत्व कीजिए। बस आपमें ही ये क्षमता है कि आप नरेंद्र मोदी का मुकाबला कर सकते हैं और अब वो समय आ गया है कि नीतीश कुमार राष्ट्रीय पटल पर आगे बढ़ें ।

शिवानंद तिवारी ने एक न्यूज़ वेबसाइट से बाचीत करने के दौरान यह कहा कि नीतीश कुमार सब जानते हैं कि भाजपा की मंशा क्या है? वह देश में उन्माद, हिंसा को बढ़ावा देकर धर्म के नाम पर गंदी राजनीति कर रही है। तीन तलाक, अनुच्छेद 370 और राम मंदिर जैसे विवादित मुद्दों पर जदयू ने जो अपना स्टैंड लिया है, उसका हम समर्थन करते हैं और नीतीश कुमार से अपील करते हैं कि अब वो देश हित का सोचें।

उन्होंने कहा कि अभी देश में विपक्ष का कोई चेहरा नहीं है। नीतीश की क्षमता सिर्फ सीएम तक ही नहीं है, ये उन्हें समझना चाहिए। पीएम नरेंद्र मोदी का मुकाबला सिर्फ नीतीश कुमार ही कर सकते हैं। देश को बांटने वाली ताकतों के खिलाफ अब नीतीश कुमार को खड़ा होना चाहिए और सत्ता का मोह छोड़कर नरेंद्र मोदी का मुकाबला करना चाहिए। अगर वो विपक्ष का नेतृत्व करें तो उन्हें राजद समेत सभी विरोधी पार्टियों का समर्थन मिलेगा।

तिवारी ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में नीतीश कुमार ने बीजेपी का साथ और केंद्रीय मंत्री का पद नहीं छोड़ा, लेकिन 2013 में जब बीजेपी ने नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया तो नीतीश ने एनडीए से नाता तोड़ लिया। उस समय एक इंटरव्यू में नीतीश कुमार ने नरेंद्र मोदी के राजनीतिक व्यक्तित्व पर सवाल उठाते हुए कहा था कि ‘प्रधानमंत्री पद के दावेदार का व्यक्तित्व खुरदुरा नहीं होना चाहिए।’

नीतीश कुमार को उस वक्त भी पीएम मोदी का नेतृत्व का स्वीकार नहीं था, आज भी उनके सिद्धांत अलग हैं। अभी के वक्त में देश में जो माहौल बनाया जा रहा है, उसके खिलाफ सबको एकजुट होना चाहिए। देश में हिंदू राष्ट्र के नाम पर हिंसा और उन्माद भड़काया जा रहा है। जम्मू-कश्मीर को बांट दिया गया, केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया। वहां भी गुंडागर्दी की जा रही और उन्माद भड़काया जा रहा है। देश को तोड़ने की राजनीति की जा रही है। इसके खिलाफ आवाज उठानी ही होगी।

शिवाानंद तिवारी ने कहा कि मैं नीतीश कुमार के साथ भी रहा हूं और अब लालू जी के साथ हूं। दोनों में भले ही वैचारिक मतभेद हों। लेकिन दोनों शुरू से ही धर्मनिरपक्ष ताकतों के खिलाफ लड़ाई लड़ते रहे हैं और अपने सिद्धांतों से कभी समझौता नहीं किया। आज भी नीतीश कुमार गठबंधन में रहकर अपने स्टैंड पर कायम हैं और अपने सिद्धांतों के आगे भाजपा के सामने घुटने नहीं टेकते हैं। नीतीश कुमार सधी राजनीति करते हैं।


Like it? Share with your friends!

0
Digital Desk

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: