Wednesday, October 27

अरब से 4500 भारतीय कामगारों को निकल जाने का आदेश, नही निकले तो नही जा पाएँगे भारत

कुवैत मंत्रालय ने एक रिपोर्ट जारी कर मीडिया को बताया है, ये रिपोर्ट April 2019 से पिछले चार महीनो में कुवैत से निर्वासित किए गए प्रवासियों के बारे में है। कुवैत के अधिकारियों ने पिछले चार महीनों में लगभग 4,500 प्रवासियों को निर्वासित किया है, जो अप्रैल 2019 को समाप्त हो रहे हैं।
अच्छी तरह से सूचित सुरक्षा स्रोतों के अनुसार, निर्वासन और श्रम पर कुवैत के कानूनों का उल्लंघन करने वाले निर्वासितों में मुख्य रूप से अरब और एशियाई प्रवासी शामिल हैं।
 
कुवैती दैनिक अलकबास के अनुसार, अधिकारियों ने आ’पराधिक मामलों में शामिल होने के लिए अन्य प्रवासियों को निर्वासित कर दिया है।

रेजीडेंसी मामलों के लिए जनरल डायरेक्टरेट ने 800 अरब प्रवासी के मामले में एक जांच शुरू की है, जिन्हें कुवैत में उन कंपनियों के लिए काम करने के लिए लाया गया था जो केवल कागज पर मौजूद हैं।
प्रारंभिक जांच में पता चला है कि ऐसी “कंपनियों” के मालिकों ने अरब प्रवासी श्रमिकों को पैसे के बदले में लाया था। कथित तौर पर ऑपरेशन में शामिल होने के संदेह में दो कुवैती नागरिकों को गिर’फ्तार किया गया।
वहीं अभी कुवैत में दूसरी ओर पुलिस की छपेमारी भी कुवैत के कई इलाक़ों में जारी है। ऐसे में आप वैलिड डॉक्युमेंट के साथ ही बाहर निकले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: