0

महिला के विवाद में बीच सड़क पर दो लोगों के बीच जमकर लात-घूंसे चल रहे हों। आसपास तमाशा देखने वालों की भीड़ लग जाए। इतने में महिला किसी तीसरे शख्स के साथ निकल जाए। यह किसी फिल्म का सीन नहीं है, बल्कि हकीकत है, जिसके गवाह सैकड़ों लोग बने।
 

 
बेंगलुरु में पुणे हाइवे पर बावीकेरे क्रॉस पर शनिवार को 11 बजे हुए इस अजीबोगरीब ड्रामे की वजह से जाम लग गया। लोग अपनी गाडिय़ां रोक-रोक कर पूरे घटनाक्रम का विडियो बनाने लगे। पुलिस ने बताया सिद्धाराजू (जो की अरब से छुट्टी ले आया था) और मूर्ति (जो वही बैंगलोर में रहता हैं) नामक दो शख्स बीच सड़क पर ही मुक्के और घूंसों की बौछार कर रहे थे। दोनों शशिकला नामक महिला के लिए लड़ रहे थे। लेकिन महिला इन दोनों को ठेंगा दिखाते हुए तीसरे शख्स के साथ निकल गई।
 
 
 
पुलिस ने पूरे घटना की जानकारी देते हुए बताया, शशिकला ने 2000 में रंगास्वामी से शादी रचाई थी, जो 2010 तक खत्म हो गई। उसके बाद महिला, रमेश नामक शख्स के साथ रहने लगी। 2015 में वह कुमार नामक दूसरे शख्स के पास चली गई, लेकिन यह रिश्ता 6 महीने ही चला। 2017 से वह चिक्काबिदारीकल्लू मूर्ति नामक ट्रैक्टर ड्राइवर के साथ रह रही थी, जिसके दो बच्चे पहले से थे।
 

 
पुलिस ने बताया, शशिकला जहां काम करती थी, वहां के एक कैब ड्राइवर सिद्धाराजू से भी शशिकला का चक्कर चलने लगा। सिद्धाराजू ने शशिकला को प्रपोज कर दिया। शशिकला ने शादीशुदा मूर्ति को छोड़कर सिद्धाराजू के साथ जाने का फैसला कर लिया।
 
 
 
शनिवार को शशिकला एक बस स्टॉप पर सिद्धाराजू के साथ खड़ी थी, जब अचानक से मूर्ति वहां आ गया और उस पर हमला कर दिया। दोनों के बीच जमकर मारपीट हुई। मौके पर पहुंची पुलिस को शशिकला ने बताया कि दोनों मेरे दोस्त हैं और एक-दूसरे से जलते हैं। उसने कहा कि वह दोनों में से किसी से भी शादी नहीं करेगी। इतने में शशिकला का एक और दोस्त आ गया और वह उसके साथ चली गई।


Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: