0

इस समय सऊदी अरब अपने देश में नए नए कानून लागू रहा है और उसका पूरी दुनिया स्वागत कर रही है | यहाँ पर सिर्फ कानून लागू ही नहीं किये जा रहे बल्कि उसका सख्ती से पालन भी करवाया जा रहा है और उसी सिलसिले में इतनी बड़ी संख्या में लोगों की गिरफ़्तारी हुई|
 
 
अनुग्रह अवधि समाप्त हो जाने के कानून के चलते हुए यहाँ इस कानून के लागू होने के पहले ही दिन 7500 लोगों को निवास और श्रम कानून का उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है |

मंत्रालय ने दी इस बारे में विस्तृत जानकरी

जब इस मामले में विस्तृत जानकारी ली गयी तो आंतरिक मंत्रालय के प्रवक्ता मेजर जनरल मंसूर अल तुर्की इस सम्बन्ध में जानकरी देते हुए मीडिया से मुखातिब होकर कहा कि ये कानून न सिर्फ उन लोगों को निशाना बनाता है जिनका पास किसी भी प्रकार का कोई परमिट नहीं है बल्कि इस कानून के अंतर्गत उन लोगों को भी गिरफ्तार किया जाता है जिनके दस्तावेजों की अवधि समाप्त हो गयी है और उनका नवीनीकरण नहीं कराया गया है.
 

 

आठ महीने चला अनुग्रह अवधि अभियान

आगे अपनी बात जारी रखते हुए मंसूर अल तुर्की ने कहा कि इस कानून से सम्बंधित अधिकारियों ने गुरुवार को उन लोगों का खोजकर पीछा करना शुरू किया जो लोग निवास और श्रम कानूनों का उल्लंघन कर रहे थे | इस कानून की जद में वो लोग भी आते हैं जो सऊदी में अपना घर किराये पर लगाते हैं |
 

 
आगे बताते हुए तुर्की बताते हैं कि अनुग्रह अवधि आठ महीनो के लिए चलाई गयी थी और कुछ दूतावासों को अतरिक्त समय दिया गया था | इन दूतावासों के नागरिकों को कुछ उचित शर्तों के साथ अपनी परिस्तिथियों को ठीक करने की मोहलत दी गयी थी |
 

दोषियों के साथ नहीं हुआ अपराधियों का व्यव्हार

 
यहाँ पर सऊदी के मंत्रालय ने ये बात भी स्पष्ट की है कि उन्होंने नियमों का उल्लंघन करने वालों को अपराधियों के तौर पर नहीं देखा है और न अपराधियों सा उनके साथ वर्ताव किया है बल्कि उनसे तत्काल ही देश छोड़ने के लिये वीजा लेने को कहा है | इस अभियान की सफलता के लिए इस मंत्रालय ने बहुत से अलग अलग अधिकारियों के साथ मिलकर काम को अंजाम दिया था |
 

 

सऊदी और विदेशियों के साथ नहीं किया गया अंतर

प्रवक्ता ने बताया कि वो तैयार है और जब तक उनको ये यकीन नहीं हो जाता कि उन्हें उनका लक्ष्य हासिल हो चुका है तब तक वो रुकेंगे नहीं |
 
उन्होंने कहा कि उन लोगों ने इस कानून में सऊदी के निवासियों और बाहर देश से आकर रहने वालों के बीच रत्ती भर अंतर नहीं किया बल्कि सबके साथ समान व्यव्हार किया गया | उनका कहना है कि चाहे सऊदी के निवासी हो या विदेशी सबको कानून का पालन करना होगा और  ऐसा न करने पर कार्यवाही ही होगी |


Like it? Share with your friends!

0
user

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: