अटल बिहारी वाजपेयी ना बोल पा रहे हैं ना चल पा रहे हैं, सामने आई दिल बैठा देने वाली तस्वीरें

1 min


0

अटल बिहारी वाजपेयी भारत के ऐसे प्रधानमंत्री रहे हैं जिनको सदा इतिहास इनके अच्छे कामों के लिए याद रखेगा. खबर है कि इन दिनों पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की तबियत पहले से और भी ज्यादा खराब है. वह लोगों से अब मिलते नहीं हैं. भारतीय राजीनीति में अटल बिहारी वाजपेयी एक ऐसे नेता रहे हैं जिनकी दुश्मन कम और दोस्त ज्यादा है. कभी भी इन्होनें नफरत की राजनीति नहीं की और आज वही व्यक्ति बस अपने जीवन के आखरी दिनों को जैसे एकांतवास के साथ काट रहा है.
तो आइये आपको आज हम अटल बिहारी वाजपेयी की कुछ उन तस्वीरों को दिखाते हैं जब उनसे कई नेता और इनके दोस्त मिलने गये तो वह लोगों को पहचानना भी भूल चुके थे. आइये एक नजर अटल बिहारी वाजपेयी की उन्हीं तस्वीरों पर डालते हैं- अटल बिहारी वाजपेयी की तस्वीरें
यह तस्वीर ज्यादा पुरानी नहीं है लेकिन अब अटल बिहारी वाजपेयी जी की स्थिति इससे भी खराब हो चुकी है. वह अधिकतर समय बस बिस्तर पर ही रहते हैं. किसी को भी इनसे मिलने की इजाजत अब नहीं नहीं हैं.
देश का इसे दुर्भाग्य ही बोलेंगे की जब अटल बिहारी वाजपेयी को जब भारत रत्न दिया गया था तो इनकी एक ऐसी तस्वीर सामने आई थी कि उनका चेहरा भी नहीं नजर आ रहा है. आज इससे बड़ा दुर्भाग्य क्या बोला जा सकता है.
सूत्र बताते हैं कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज जब अटल बिहारी जी का स्वास्थ्य जानने गयी थीं तो उस समय भी उनकी तबियत कुछ ज्यादा अच्छी नहीं थी. इस समय वह देर से लोगों को पहचानते थे.

किन्तु आज तो भारत के रत्न अटल बिहारी वाजपेयी ने सभी को पहचानना और अख़बार पढ़ना भी बंद कर दिया है. देश और दुनिया से जैसे भारत रत्न का दिल भर गया है.

शायद यह अटल जी की अपने सबसे अच्छे दोस्त लाल कृष्ण आडवाणी के साथ सबसे अच्छी तस्वीर है जिसमें वह कुछ बोलने का प्रयास करते हुए नजर आ रहे हैं.

तो इन तस्वीरों को देखकर समझा जा सकता है कि आज भारत रत्न और भारत के पूर्व प्रधानमन्त्री कितनी पीड़ा में होंगे. अटल बिहारी वाजेपयी का यह जीवन भारतीय समाज की सेवा में लगा है और यह भारत का सौभाग्य ही बोला जायेगा. आज जिस विकसित भारत की तस्वीर हम देख रहे हैं उसके पीछे इस व्यक्ति का काफी बड़ा योगदान रहा है.


Like it? Share with your friends!

0
Digital Desk

0 Comments

Your email address will not be published. Required fields are marked *