सिवान से दिल्ली, पटना, गोरखपुर, गोपालगंज जाने वालों की बल्ले बल्ले, मिल गया ज़बरदस्त 57 लाख का सौग़ात


बड़े शहरों की तर्ज पर अब जल्द ही जिला मुख्यालय में लोगों को सर्व सुविधायुक्त रैन बसेरा की सुविधा मिलेगी। नगर परिषद द्वारा ललित बस स्टैंड में एक स्थाई रैन बसेरा का निर्माण किया जाएगा। इसके लिए नगर परिषद द्वारा कार्ययोजना व रूपरेखा तैयार कर ली गई है।

इसके लिए विभाग द्वारा टेंडर की प्रक्रिया जल्द ही की जाएगी। टेंडर की प्रक्रिया पूर्ण होने के बाद निर्माण कार्य शुरू होगा। रैन बसेरा में कई सार्वजनिक कमरे भी रहेंगे, जहां राहगीर अथवा यात्री रात गुजार सकेंगे। नए रैनबसेरा में टॉयलेट, बाथरूम सहित अन्य मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी।

 

लोगों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए इसका निर्माण किया जाएगा। इसके अलावा इस रैनबसेरा में महिला एवं पुरुषों के लिए भी अलग अलग कमरे बनाए जाएंगे। वर्तमान में नगर परिषद द्वारा अस्थाई रूप से मुफस्सिल थाने के सामने रैन बसेरा का संचालन किया जा रहा है। जहां फिलहाल सुविधाओं की घोर कमी है।

आश्रय स्थल रैनबसेरा का निर्माण कार्य नगर परिषद द्वारा 57 लाख की लागत से किया जाएगा। इसके लिए जल्द ही निविदा की प्रक्रिया पूर्ण कर निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा। नगर परिषद कर्मियों का कहना है कि जिला मुख्यालय में नया रैन बसेरा बेहतर तरीके से बनाया जाएगा।

 

बसें छूट जाने पर यात्री यहां गुजार सकेंगे रात

नए रैन बसेरा का निर्माण शहर के ललित बस स्टैंड परिसर में ही किया जाएगा। इसके लिए जगह का चिह्नित कर लिया गया है। जहां सर्वसुविधायुक्त रैन बसेरा का निर्माण किया जाएगा। ज्ञात हो कि ललित बस स्टैंड जिले का सबसे प्रमुख बस स्टैंड माना जाता है।

 

यहीं से दिल्ली, पटना, गोरखपुर, बनारस, मोतिहारी, छपरा, गोपालगंज सहित अन्य रूट में बसें खुलती हैं।

जो यात्री रात में रुकना चाहेंगे, उन्हें रैन बसेरा उपलब्ध कराया जाएगा। कई ऐसे यात्री जो काम की वजह से सही समय पर बस नहीं पकड़ पाते और बस छूट जाने से उन्हें भटकना पड़ता है। ऐसे लोगों को भी इस रेन बसेरा का लाभ मिलेगा। इसके अलावा रात में भटकते गरीब तबके के लोगों को भी रैनबसेरा में पनाह दी जाएगी।

क्या कहते हैं जिम्मेदार :

जिला मुख्यालय स्थित ललित बस स्टैंड में रैन बसेरा का निर्माण जल्द ही शुरू होगा। वर्तमान में मुफस्सिल थाना के सामने जो अस्थाई रैन बसेरा संचालित है, वहां सुविधाओं का घोर अभाव है। इसके चलते लोगों को पूरा लाभ नहीं मिल पा रही है। शहर की बढ़ती आबादी व विकास कार्य को देखते हुए जल्द ही जिला मुख्यालय के अनुरूप रैन बसेरा का निर्माण किया जाएगा।

सुशील कुमार, कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद सिवान

 


Like it? Share with your friends!

-1
-1 points

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सिवान से दिल्ली, पटना, गोरखपुर, गोपालगंज जाने वालों की बल्ले बल्ले, मिल गया ज़बरदस्त 57 लाख का सौग़ात

log in

reset password

Back to
log in
error: Content is protected !!