सांसद पप्पू यादव ने अपनी किताब में किये कई बड़े खुलासे, गलत हैं लेकिन ‘जेल’ में ये सभी बातें हैं आम, जानकर चौंक सकता हर कोई


जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय संरक्षक और मधेपुरा सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने एक किताब लिखी है. जिसमें जेल के भीतर घटित होने वाली उन बातों का जिक्र और खुलासा किया गया है जो गलत हैं और गैरकानूनी भी लेकिन फिर भी वो सारी बातें वहां आम हैं. संगीन आरोप में 17 साल से अधिक समय जेल में बिता चुके पप्पू यादव ने बेऊर जेल से लेकर दिल्ली के तिहाड़ जेल में बिताए दिनों के बारे में पूरी बात इस किताब में लिखी है.

जन अधिकार पार्टी के प्रमुख और सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने कहा कि ‘मेरे मोबाइल फोन की घंटी बज उठी. जी हां, मैं जेल में था और मोबाइल फोन की ही बात कर रहा हूं। आपको बहुत आश्चर्यचकित नहीं होना चाहिए, जेल में बंदियों के पास मोबाइल होना वैसी ही आम बात है, जैसे बिना टिकट लोकल ट्रेन में चलना.’

जेल में कैद के दौरान मोबाइल के खुलेआम इस्तेमाल को स्वीकार किया है एक लोकसभा सांसद ने. तिहाड़ जेल के गैंगवार का जिक्र करते हुए पप्पू यादव ने किताब में लिखा है कि यहां हमेशा दो गैंगों का टकराव होता रहा है. खासकर कृष्ण गिरोह और अनूप गिरोह के गैंगस्टर जेल में आने के बाद एक दूसरे पर हावी होने की कोशिश करते हैं. जेल में ब्लेड कैसे सबसे खतरनाक हथियार है और यह किस तरह अपराधियों तक पहुंचता है, इसका भी विवरण है. पप्पू यादव ने अपने अनुभव के आधार पर लिखा कि जेल में मजबूत होने की परिभाषा है कि कौन सा गुट ब्लेड से आम कैदियों पर अधिक हमला कर सकता है.

इसमें सनसनीखेज बात है कि इनमें से कई तो सालों तक जेल में ही रहते हैं और ब्लेड से हमला के बदले बाहर से पैसा लेते हैं और इससे लाखों कमा लेते हैं. इसी कमाई से उनका घर चलता है. इन सबका रिमोट कंट्रोल कहीं बाहर रहता है. जेलों में जातिगत संघर्ष के बारे में लिखा गया है कि पटना के बेऊर जेल में अलग-अलग जातियों के कैदियों के मुलाकातियों के लिए अलग-अलग खिड़की होती थी और दंबग जाति के कैदी कमजोर जाति के कैदियों को जोर आवाज में बात करने की अनुमति नहीं देते थे.

इस किताब में दबंग कैदियों द्वारा दुसरे कमजोर कैदियों का शारीरिक शोषण करने की बात का भी खुलासा किया गया है. सांसद ने इस संबंध में बेऊर जेल की एक खास घटना का जिक्र भी किया. पप्पू यादव की किताब में और भी कई घटनाओं का जिक्र किया गया है. साथ ही सरकार को कई सुझाव भी दिए गये हैं. ताकि जेल में होने वाली अमानवीय घटनाओं और गैरकानूनी बातों पर रोक लग सके.

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सांसद पप्पू यादव ने अपनी किताब में किये कई बड़े खुलासे, गलत हैं लेकिन ‘जेल’ में ये सभी बातें हैं आम, जानकर चौंक सकता हर कोई

log in

reset password

Back to
log in
error: Content is protected !!