शर्मनाक: दुबई के दोस्त की पत्नी को खिलाया नशीला नाश्ता, किया रेप और बनाया वीडियो, फिर करने लगा यह घटिया काम


बिहार में दोस्ती शर्मसार हो गई है। बात बिहार के जमुई खैरा थाना की हैं। जहां कि एक महिला अपने ही पति के दोस्त के हवस का शिकार हुई। जिसके बाद भी उसे परेशान किया गया, फिर उसने काफी हिम्मत करके इस बात की जानकारी पुलिस को दी। उसके साथ हुई घटना की एक एक सच्चाई उसने पुलिस और अपने पति को बताई। उसने बताया कि उसके पति जो की दुबई में काम करते हैं, के दोस्त ने नशीला पदार्थ खिलाकर पहले दुष्कर्म किया और अश्लील वीडियो बना कर उसे ब्लैकमेल किया। पुलिस ने शिकायत मिलने के बाद जिले के झाझा बाजार से महिला के साथ दुष्कर्म करने के मामले उस युवक को गिरफ्तार किया।

जानकारी के अनुसार, खैरा थाना क्षेत्र में एक महिला ने अपने ही गांव के एक युवक के खिलाफ दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज करवाई है। महिला का कहना है कि गांव के अशोक रविदास और उसका पति काफी नजदीकी दोस्ती यही वजह थी कि उसके पति से उसने 70 हजार रुपये का कर्ज लिया था। इसके अलावा अशोक ने महिला की सास से भी 40 हजार रुपए उधार लिए थे।

इसी दौरान जब महिला अपने मायके में थी तो अशोक ने उसे पैसे देने के बहाने बुलाया और अतिथि पैलेश होटल में नाश्ता करवाया। इसी दौरान उसने खाने में कुछ बेहोश की दवा मिला दी। महिला के बेहोश होते ही अशोक ने दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया। महिला का आरोप है कि इस दौरान उसने उसकी अश्लील वीडियो भी बनाई। पीड़ित महिला का आरोप है कि दुष्कर्म का वीडियो बनाने के बाद अशोक उसे ब्लैकमेल करने लगा। उसने उधार के पैसे लौटाने की बजाय उल्टा 50 हजार रुपये की मांग करने लगा। जब महिला ने पैसे देने से इंकार किया गया तो युवक ने वीडियो महिला के पति को दिखाने की बात कर ब्लैकमेल करने लगा। अंत में कई दिनो तक परेशान होने के बाद महिला ने खैरा थाना में मामला दर्ज करवाया। जहां उसे थानाध्यक्ष दलजीत झा के तरफ से सही और उचित करवाई का भरोसा दिलाया गया है। उन्होंने बताया कि इस मामले की जांच शुरू कर दी गई है। पुलिस मामले को लेकर काफी गंभीर है।


Like it? Share with your friends!

-1
-1 points

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

शर्मनाक: दुबई के दोस्त की पत्नी को खिलाया नशीला नाश्ता, किया रेप और बनाया वीडियो, फिर करने लगा यह घटिया काम

log in

reset password

Back to
log in
error: Content is protected !!