विशेष राज्य के लिए JDU नेता कर रहे है बयानबाजी, पर इसपर तेजस्वी ने जो कहा उससे पलट सकती है बाजी


विशेष राज्य के दर्जे को लेकर जदयू नेताओं द्वारा बयानबाजी की जा रही है. लेकिन इस पर पूर्व उपमुख्यमंत्री और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने जो कहा उससे अगले चुनाव में NDA की बाजी पलट सकती है. क्योंकि एक ओर जदयू विशेष राज्य के दर्जे की मांग कर रही है और दूसरी ओर बीजेपी के साथ सरकार में हैं. बता दें कि तेजस्वी ने जदयू पर वोट बैंक की राजनीति और दिखावटी मांग करने का आरोप लगाया है. तेजस्वी ने कहा कि अब तो केंद्र और राज्य में एनडीए की सरकार है, विशेष राज्य का दर्जा क्यों नहीं मिल रहा है? जदयू वोट बैंक के लिए इस मुद्दे को उठा रहा है. तेजस्वी ने कहा कि यूपीए की सरकार में आरोप लगते थे अब तो दोनों जगह एनडीए की ही सरकार है. अब क्यों नहीं मिल रहा है बिहार को विशेष राज्य का दर्जा?

जदयू प्रवक्ता नीरज का कहना है कि विशेष राज्य कि मांग हमारी कभी समाप्त नहीं होगी। बिहार के विकास के लिए विशेष राज्य का दर्जा जरूरी है. तेजस्वी के बयान पर कहा कि जिन्हें विकास से कोई लेना देना नहीं है, उन्हें वोट बैंक ही लगेगा. लेकिन जदयू की आज की मांग नहीं है वर्षों पुरानी मांग है।नीरज ने कहा कि बिहार का ग्रोथ रेट पूरे देश में सबसे ज्यादा है लेकिन राजद शासन काल में बिहार इतना पीछे चला गया था कि अब विशेष राज्य का दर्जा जरूरी है तभी यहां निवेश होगा और उद्योग धंधा लगेगा, लोगों को रोजगार मिलेगा जिससे पलायन भी रूकेगी.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से लेकर जदयू के कई नेताओं ने नीति आयोग के सीईओ अभिताभ कांत के बयान के बाद विशेष राज्य का दर्जा बिहार की जरूरत बताई है. जदयू संसदीय दल के नेता आरसीपी सिंह ने केंद्र पर लंबे समय से बिहार की अपेक्षा का आरोप लगाए था. पिछले दिनों जब 15 वें वित्त आयोग टीम को ज्ञापन देने के लिए सर्वदलीय बैठक हुई थी उस बैठक में भी विशेष राज्य पर चर्चा हुई. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से लेकर जदयू के कई नेताओं ने नीति आयोग के सीईओ अभिताभ कांत के बयान के बाद विशेष राज्य का दर्जा बिहार की जरूरत बताई है.


Like it? Share with your friends!

-1
-1 points

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

विशेष राज्य के लिए JDU नेता कर रहे है बयानबाजी, पर इसपर तेजस्वी ने जो कहा उससे पलट सकती है बाजी

log in

reset password

Back to
log in
error: Content is protected !!