भागलपुर में इमरजेंसी वार्ड में भर्ती संजीव हर तीन मिनट के बाद उठता है और चिल्ला कर कहने लगता है- मेरी जान को बुला दो, नहीं तो मैं मर जाऊंगा


भागलपुर : जेएलएनएमसीएच के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती संजीव अचानक दो से तीन मिनट के बाद उठता है और चिल्ला कर कहने लगता है- मेरी जान को बुला दो. नहीं तो मैं मर जाऊंगा. जल्दी करो, मुझे दिल्ली जाना है. बेटे को तैयार कर दो, उसको भी लेकर जाना है. यह कह वह फिर बेहोश हो जाता है. संजीव की हालत देख पास खड़ा उसके दोस्त विजय की आंखों में आंसू आ जाते हैं. दिल्ली ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन में इंस्पेक्टर है संजीव कुमार मेहरा, जो बेहद गंभीर स्थिति में इलाजरत है.

10 साल पहले हुआ था प्यार

Advertisements

10 साल पहले दिल्ली में संजीव का गोड्डा की लड़की नजमा से प्रेम हुआ. प्रेम परवान चढ़ा, दोनों ने समाज और धर्म को की परवाह किये बगैर शादी कर ली. फिर नजमा अपने बच्चे के साथ गोड्डा अपने मायके आ गयी. मायके आने के बाद नजमा वापस नहीं गयी. उधर, अपनी पत्नी और बच्चे से मिलने के लिए संजीव परेशान हो उठा. फोन पर आने की गुजारिश भी की.

दोस्त विजय के साथ संजीव गोड्डा आया, दोनों की हुई पिटाई
संजीव के दोस्त विजय कुमार ने बताया कि नजमा ने संजीव को वाट्सअप पर मैसेज देकर कहा, तुम गोड्डा चले आओ, हम तुम्हारे साथ वापस दिल्ली जायेंगे. इसकी बात को सुन कर संजीव और हम गोड्डा आ गये. यहां आकर हमने नजमा को फोन किया, तो वह बोली घर पर आ जाओ. हम दुकान पर बैठे हैं. गाड़ी लाना, हम दोनों निकल लेंगे. हम दोनों गाड़ी लेकर आये. नजमा सामने आयी, तो पीछे उसका भाई था. कुछ देर में कुछ और लोगों ने हमें घेर लिया. इसके बाद सभी ने मिल कर हमलोगों की पिटाई कर दी. किसी तरह अपनी जान बचा कर हम भागे. पुलिस को खबर की. संजीव के सिर में चोट लगी है. उसे गोड्डा अस्पताल से निकाल कर मायागंज अस्पताल रेफर किया गया. गोड्डा पुलिस ने नजमा और इसके परिवार वालों को गिरफ्तार कर लिया है.

क्या कहते हैं अधिकारी
इस संबंध में गोड्डा के एसपी राजीव रंजन सिंह ने बताया कि नजमा ने लड़के को प्यार से अपने मायके बुला कर उसके साथ मारपीट की घटना को अंजाम दिया. नजमा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. इससे पहले नजमा की मां को गिरफ्तार किया गया था.
इनपुट:


Advertisements
Loading...

Like it? Share with your friends!

0

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

भागलपुर में इमरजेंसी वार्ड में भर्ती संजीव हर तीन मिनट के बाद उठता है और चिल्ला कर कहने लगता है- मेरी जान को बुला दो, नहीं तो मैं मर जाऊंगा

log in

Become a part of our community!

reset password

Back to
log in
Bitnami