भागलपुर नए SSP का कमाल, किया धाकड गिरफ़्तारियाँ, भागलपुर में धंधे का पर्दाफ़ाश


भागलपुर पुलिस ने नशीली और प्रतिबंधित दवाओं के कारोबार का भंडाफोड़ किया है। एसएसपी आशीष भारती द्वारा गठित एसआइटी ने अवैध दवा कारोबार के अलावा भीखनपुर में गुमटी नंबर तीन के समीप गोपाल ठाकुर को गोली मारने मामले का भी उद्भेदन सोमवार को कर दिया। पुलिस ने गोपाल की निशानदेही पर हुसैनाबाद के मरकजी टोला निवासी गुलाम सरवर को 170 बोतल कफ सिरप, चोरी की दो बाइक और तीन जिंदा बम के साथ गिरफ्तार किया है। यह जानकारी एसएसपी ने अपने कार्यालय में सोमवार को आयोजित अपने प्रेसवार्ता में दी।

 

निशानदेही पर मेडिकल दुकान में छापेमारी, सील

गुलाम सरवर के घर इतनी मात्रा में प्रतिबंधित दवाई को लेकर जब पूछताछ की गई तो उसने बताया कि एमपी द्विवेदी रोड स्थित अनिल मेडिकल हॉल उन लोगों को दवा बिना पुर्जा के सप्लाई करता है। एसआइटी मेडिकल हॉल में जब छापेमारी की तो वहां से नौ कार्टन में करीब साढ़े छह सौ बोतल एलसीडी कफ सिरप बरामद किया है। पुलिस ने कोतवाली इलाके के द्वारिकापुरी कॉलोनी के समीप रहने वाले अनिल पंसारी को हिरासत में लिया है। इस संबंध में ड्रग इंस्पेक्टर को जांच कर प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया गया है।

 

दो मई को गोपाल को मारी गई थी गोली

गौरतलब है कि भीखनपुर में दो मई को बुढ़ानाथ के आनंद यादव और मुंदीचक के शराब माफिया राजा चौधरी ने गोपाल ठाकुर का अपहरण कर लिया था। वे दोनों गोपाल को हत्या की नीयत से बरहपुरा ले जा रहा था। मगर जब स्थिति भांपकर जब विरोध किया तो राजा और आनंद ने उसे मुंह में गोली मार दी। घायल हालत में ही वह किसी तरह जान बचाकर भागते हुए इशाकचक थाने पहुंचा। जहां से उसे इलाज के लिए मायागंज अस्पताल भेजा गया।

 

बम बरामदगी पर दर्ज की गई अलग से प्राथमिकी

हुसैनाबाद में बम बरामदगी मामले में पुलिस द्वारा मोजाहिदपुर थाने में अलग से गुलाम सरवर के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसके अलावा ड्रग इंस्पेक्टर इस मामले की प्राथमिकी तातारपुर या कोतवाली थाने में प्राथमिकी दर्ज कराएंगे। एसआइटी का गठन एसएसपी ने सिटी डीएसपी सहरियार अख्तर के नेतृत्व में किया था। टीम में इशाचक इंस्पेक्टर राम एकबाल यादव, बबरगंज चौकी प्रभारी राजे कुमार रंजन, दारोगा हारूण मुश्ताक, एएसआइ विजय कुमार सिंह, राधे श्याम सिंह, विन्देश्वरी यादव शामिल थे।

 

विवाद का पता लगा रही एसआइटी

इस मामले की जांच कर रही एसआइटी पता लगा रही है कि दो मई को हुई घटना से गुलाम सरवर का क्या संबंध है। पुलिस को आशंका है कि गुलाम सरवर के कारोबार को गोपाल ठाकुर प्रभावित कर रहा था। इस कारण उसने ही गोपाल के हत्या की सुपारी अपराधियों को दी थी। हालंाकि जब तक मामले की जांच पूरी नहीं हो जाए। पुलिस कुछ भी कहने से बच रही है।

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

भागलपुर नए SSP का कमाल, किया धाकड गिरफ़्तारियाँ, भागलपुर में धंधे का पर्दाफ़ाश

log in

reset password

Back to
log in
error: Content is protected !!