ब्रेकींग: गोपालगंज में एक फर्जी अपहरणकांड खुलासा, पुलिस की हिरासत में आया यह मास्टरमाइंड, रची थी गजब की कहानी


गोपालगंज पुलिस ने 45 वर्षीय व्यक्ति के फर्जी अपहरणकांड का खुलासा किया है. फर्जी अपहृत कर्ज के पैसे को चुकाने से बचने के लिए अपने ससुराल में जा छुपा था. जबकि अपहरण को लेकर गोपालगंज पुलिस कई दिनों तक परेशान रही. चंद्र प्रकाश शाही सिधवलिया का रहने वाला है. बीते 2 मई से चंद्र प्रकाश शाही गोपालगंज नगर थानाक्षेत्र से अपने बाइक से अचानक लापता हो गया. घरवालों ने घटना के 2 दिन बाद 4 मई को नगर थाना में लापता होने और अपहरण की आशंका जताते हुए लिखित शिकायत दर्ज करायी.

नगर थानाध्यक्ष संजय कुमार ने बताया कि 4 मई को सूचना दी गयी कि चंद्र प्रकाश शाही अपने बाइक के साथ लापता है. लापता होने के कई घंटे बाद चंद्र प्रकाश शाही ने घरवालों को अपने हाथ पैर की अंगुली काटने और मस्जिद में छुपाकर रखने की सूचना दी. इसी सूचना के बाद पुलिस ने तथाकथित अपहृत के मोबाइल सर्विलांस का सहारा लिया और उसे अपहरण की सूचना के महज 48 घंटे बाद ही मोतिहारी से सकुशल बरामद कर लिया.

अपहृत व्यक्ति अपने ससुराल में छिपकर पुलिस और कर्जदारों को चकमा दे रहा था. फर्जी अपहृत चन्द्र प्रकाश शाही के मुताबिक अपहरण की साजिश रचने से पहले उसने अपनी बाइक किसी अन्य को 27 हजार रुपये में बेच दिया था. इसके बाद अपने ससुराल में छिप कर रह रहा था. तभी पुलिस ने उसे बरामद कर लिया.अपहृत व्यक्ति अपने ससुराल में छिपकर पुलिस और कर्जदारों को चकमा दे रहा था. फर्जी अपहृत चन्द्र प्रकाश शाही के मुताबिक अपहरण की साजिश रचने से पहले उसने अपनी बाइक किसी अन्य को 27 हजार रुपये में बेच दिया था. इसके बाद अपने ससुराल में छिप कर रह रहा था. तभी पुलिस ने उसे बरामद कर लिया. इस फर्जी अपहरणकांड के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली है. वही पुलिस को गुमराह करने, गलत सूचना देकर अपहरण की साजिश रचने सहित कई मामले में नगर थाना पुलिस मामला दर्ज करने पर विचार कर रही है.
इनपुट:HN18

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ब्रेकींग: गोपालगंज में एक फर्जी अपहरणकांड खुलासा, पुलिस की हिरासत में आया यह मास्टरमाइंड, रची थी गजब की कहानी

log in

reset password

Back to
log in
error: Content is protected !!