बिहार में दरोगा ने महिला चोर को रिहा करने के लिए मांगा जिस्म, महिला ने दिया ये जवाब, चोर हूं लेकिन…!


रेल पुलिस ने एक महिला पॉकेटमार को गिरफ्तार किया। उसे जीआरपी थाना लाया गया। महिला पॉकेटमार को थानाध्‍यक्ष एकांत में ले गया और कहा कि यदि तुम मेरे साथ वो काम करोगी तो रिहा कर देंगे। यह घटना है हाजीपुर स्‍टेशन की। हाजीपुर जीआरपी थानाध्यक्ष एके मिश्रा पर एक महिला पॉकेटमार ने गंभीर आरोप लगाया है। कहा कि थानाध्यक्ष ने उससे रिहाई के बदले ‘वो’ काम करने की पेशकश की। थानाध्‍यक्ष की पेशकश पर महिला पॉकेटमार ने कहा कि मैं चोर जरूर हूं, मगर अपना जिस्म नही बेचती।

गिरफ्तार महिला ने कहा कि ये दारोग हमको पहचानते हैं कि पहले मैं पॉकेटमारी करती थी। लेकिन अब नहीं करती हूं। इसलिए हमको पकड़ के ले आये। पकड़ के लाये तो हमको बहुत कुछ कहें। हम उनकी बात नहीं मानें इसलिए हमको जले कर रहे हैं। मै अपना पिछला सारा गलत काम छोड़ चुकी हूं। क्‍या मुझे जीने का हक नहीं है? मैं स्‍टेशन से बाहर थी, फिर भी पकड़ कर ले आये। बुरी-बुरी बातें की। कहा कि मेरे साथ गलत करो तो हमको तुमको छोड़ देंगे। मैंने कहा कि पॉकेटमारी करते थे लेकिन जिस्‍म नहीं बेचते हैं। मेरे मना करने पर बोले की जेल जाओ।

वहीं, जीआरपी थानाध्‍यक्ष ने कहा कि इनका नाम चमन खातून उर्फ संध्‍या खातून है। वह सीतामढ़ी की रहने वाली है। इनको ट्रेन में यात्रियों की सामान चोरी करने में महारत हासिल है। ये एक पेशेवर अपराधी है। अपने साथी जतन के साथ हाजीपुर स्‍टेशन के प्‍लेटफार्म नंबर चार के पास यात्रियों के सामान को गायब करने की फिराक में थी। मुझे सूचना मिली तो मैंने इसे महिला सिपाही के सहयोग से पकड़ा। दर्जनों बार जेल जा चुकी है। जब मैं छपरा रेलथाना में था, उस समय भी इसे गिरफ्तार कर जेल भेजा था।
INPUT:JMB


Like it? Share with your friends!

1
1 point

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बिहार में दरोगा ने महिला चोर को रिहा करने के लिए मांगा जिस्म, महिला ने दिया ये जवाब, चोर हूं लेकिन…!

log in

reset password

Back to
log in
error: Content is protected !!