पकड़ी गयी लड़कियों में इसकी शादी दो दिन बाद। पोलिसवाले अंदर जाने के बाद पानी पानी


देवरिया के स्टेशन रोड पर संचालित तीन होटलों में सोमवार को छापा मारकर पुलिस ने 29 महिलाएं और 27 पुरुषों को रंगरेलियां मनाते पकड़ा। घरवालों से बिना बताए होटल पहुंचे युवक-युवतियों को जब पुलिस ने पकड़ा तो वे गिड़गिड़ाने लगे। कोई हाथ जोड़ रहा था तो कोई पैर पकड़कर माफी मांग रहा था। वे बार-बार कह रहे थे कि साहब हमसे गलती हो गई, जाने दो। पहली बार ही होटल में आए हैं। घरवालों और रिश्तेदार जानेंगे तो बहुत बेइज्जती होगी। किसी को मुंह कैसे दिखाएंगे। पुलिस सारी दलीलों को दरकिनार करते हुए सभी को सख्ती दिखाते हुए वाहन में बैठाकर कोतवाली और महिला थाने ले गई।

Advertisements

स्टेशन रोड के अधिकांश होटलों में अय्याशी का धंधा काफी समय से चलता रहा है। पहले भी कई बार हुई कार्रवाई में कई जोड़े पकड़े गए। कुछ दिनों तक धंधा बंद रहता है तो फिर से शुरू हो जाता है। इन होटलों में युवक-युवतियों से ली जाने वाली आईडी न तो तस्दीक की जाती है और न ही उनके आपसी संबंधों के बारे में जानकारी ली जाती है। अधिक रुपये की लालच में युवक-युवतियों को होटल में कमरा भी सहजता से उपलब्ध हो जाता है।

Advertisements

स्थानीय लोगों की शिकायत को पुलिस गंभीरता से नहीं लेती थी। इसका नतीजा यह हुआ कि होटलवालों का मनोबल बढ़ता गया। स्थानीय लोगों ने इस बारे में एसपी से शिकायत की तो पुलिस हरकत में आ गई। सोमवार को तीन होटलों में ही छापेमारी की गई तो रंगरेलियां मनाते पकड़ लिए गए। पकड़े गए लोग पुलिस के सामने गिड़गिड़ाने लगे।

एक युवती ने पुलिस को बताया कि शादी तय है। दो दिन बाद ही होने वाली है। शादी से पूर्व प्रेमी से मिलने का वादा की थी, इसलिए मिलने चली आई। कुछ अपने को पति-पत्नी तो कुछ बेइज्जती होने की दुहाई देकर छोड़ने की बात कह रहे हैं। छापेमारी करने पहुंचे पुलिसवालों ने किसी की न सुनी। पकड़ी गईं महिलाओं से महिला पुलिस पूछताछ कर रही हैं।

देवरिया रेलवे चौकी से महज चंद कदम की दूरी पर स्थित लगभग हर होटल में अय्याशी का धंधा चलता है। इसके बाद भी पुलिस के बेखबर रहने की बात किसी के गले नहीं उतर रही। पुलिस क्यों मौन रहती है, इसका जवाब किसी के पास नहीं है। स्टेशन के आसपास के लोगों ने बताया कि बिहार की तरफ से आने वाली ट्रेनों से कुछ युवतियां आती हैं। स्कूल ड्रेस में और बैग लिए वह स्कूल जाने की बजाय होटलों में चली जाती हैं। दिन भर होटल में रहने के बाद वे शाम के समय ट्रेन से घर चली जाती हैं।

लोगों का कहना था कि कई बार शिकायत की गई थी कि होटलों की निगरानी रखी जाए। दिन में जब भी बिहार की तरफ से ट्रेन आए तो पुलिसवाले बाइक लेकर होटलों के आसपास पहुंचें, लेकिन पुलिसवाले ऐसा नहीं करते हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि इन होटलों में दिन के समय अधिकांश पढ़ने वाले छात्र-छात्राएं जाते हैं। कम उम्र के बाद भी होटलों में कमरे मिल जाते हैं। इस पर जिला प्रशासन और पुलिस को सख्ती बरतनी होगी। क्योंकि होटलवालों को सिर्फ रुपये से मतलब होता है।

छापेमारी के दौरान होटल सहारा पैलेस के एक कमरे से निकलकर महिला भागने लगी। महिला पुलिस ने दौड़ाकर उसे पकड़ा और ले आई। स्थानीय लोगों का कहना था कि महिला इस होटल में प्रतिदिन आती है। पुलिस इन मामलों की भी जांच में जुटी है।

एसपी के निर्देश पर दल-बल के साथ छापेमारी कर तीन होटलों से 29 महिलाओं, 27 पुरुषों को पकड़ा गया है। उनसे पूछताछ की जा रही है। इन होटलों के चार कर्मचारियों को भी हिरासत में लिया गया है। नाबालिग लड़कियों के परिवारवालों को सूचना दी गई है। आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। -शिष्यपाल, एएसपी

 


Like it? Share with your friends!

0

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

पकड़ी गयी लड़कियों में इसकी शादी दो दिन बाद। पोलिसवाले अंदर जाने के बाद पानी पानी

log in

Become a part of our community!

reset password

Back to
log in
Bitnami