गोपालगंज में गुमशुदा बेटे के लिए तड़प रही एक मां पर चाकू से जानलेवा हमला, अकेले देख देवर-देवरानी ने कर दिया ऐसा हाल


गोपालगंज में 30 वर्षीय महिला को चाकू मारकर गंभीर रूप से घायल कर दिया गया. पीड़ित महिला को सदर अस्पताल में इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया जहां से उसे गंभीर हालत में गोरखपुर के लिए रेफर कर दिया गया.

पीड़िता का अपने गुमशुदा बेटे को लेकर रिश्तेदारों से ही विवाद चल रहा है. घटना मांझा के दुलदुलिया गांव की है. पीडिता का नाम रुखसाना खातून है जो मांझा के दुलदुलिया निवासी बदरुद्दीन की पत्नी है. जानकारी के मुताबिक रुखसाना खातून का बेटा बीते 04 माह से लापता है. इसको लेकर परिजनों ने मांझा थाना में अपहरण की प्रथमिकी दर्ज कराई है.

इसी अपहरण काण्ड को लेकर पुलिस की तफ्तीश जैसे ही शुरू हुई. वैसे ही रुखसाना खातून का अपने ही रिश्तेदारों से विवाद शुरू हो गया. पीड़िता के मुताबिक वह घर में अकेले थी तभी देवर और देवरानी ने धारदार हथियार से उसके ऊपर जानलेवा हमला कर दिया.

पीड़िता के शरीर पर चाकू से कई हमले किये गए हैं जिसमें वो गंभीर रूप से घायल हो गयी है. बहरहाल पीड़िता को गोरखपुर हालत में गोरखपुर के लिए रेफर कर दिया गया है. पीड़िता का आरोप है कि मांझा पुलिस के द्वारा अभी तक कोई भी फर्द बयान दर्ज नहीं कराया गया है.
इनपुट:HN18

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

गोपालगंज में गुमशुदा बेटे के लिए तड़प रही एक मां पर चाकू से जानलेवा हमला, अकेले देख देवर-देवरानी ने कर दिया ऐसा हाल

log in

reset password

Back to
log in
error: Content is protected !!