गंगा, कोसी, गंडक समेत 8 नदियां खतरे के निशान के पार, भागलपुर के इस सड़क पर अभी से बह रहा चार फीट पानी


भागलपुर: नेपाल, उत्तराखंड, झारखंड में लगातार बारिश और उत्तर बिहार के मैदानी इलाके में रुक-रुक कर बारिश से गंगा, कोसी समेत सूबे की सभी प्रमुख नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। 8 बड़ी नदियां खतरे के निशान को पार कर चुकी हैं। आधा दर्जन छोटी नदियों का जलस्तर भी लाल निशान के पार है। तटबंधों पर भी दबाव बढ़ गया है। जल संसाधन विभाग ने सभी इंजीनियरों को तटबंधों की 24 घंटे निगरानी का निर्देश दिया है।

जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में बाढ़ और कटाव का कहर शुरू हो गया है। घोघा के इलाके में कई गांव बाढ़ से घिरकर टापू बन गए हैं। घोघा-प्रशस्तडीह सड़क पर चार फीट पानी बह रहा है। पीरपैंती के रानी दियारा में कटाव से अब तक 30 से अधिक घर गंगा में समा चुके हैं। कहलगांव में गंगा का जलस्तर खतरे के निशान से महज 18 सेंटीमीटर दूर है। लगतार हो रही बारिश के कारण आने वाले दिनों में जलस्तर में बढ़ोत्तरी का अनुमान है। वहीं नवगछिया अनुमंडल के इस्माइलपुर प्रखंड का दियारा इलाका बाढ़ से घिर चुका है। यहां जहाजवा बांध टूटने से सड़क पर पानी आ गया है। गोपालपुर के बिंद टोली में भयंकर कटाव शुरू हो गया है। खगड़िया जिले की सीमा से लगे नारायणपुर के नवटोलिया बांध में भी धंसान शुरू हो गया है।

पुनपुन और सोन में भी लगातार बढ़ रहा पानी
गंगा, कोसी, बागमती, गंडक, बूढ़ी गंडक, कमला बलान, घाघरा, अधवारा नदियों का जलस्तर लाल निशान पार कर चुका है। उधर, लखनदेई, गंडकी, दाहा, माही, घोघा जैसी छोटी नदियों में भी उफान है। इनका जलस्तर और बढ़ने की संभावना है। पुनपुन, सोन के जलस्तर में भी तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। गंगा सूबे में सभी स्थानों पर तेजी से बढ़ रही है।
इनपुट: DBC


Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

गंगा, कोसी, गंडक समेत 8 नदियां खतरे के निशान के पार, भागलपुर के इस सड़क पर अभी से बह रहा चार फीट पानी

log in

reset password

Back to
log in
error: Content is protected !!