कानूनी पेंच में फंसे लालू, बेटे की बारात से पहले जाना पड़ सकता है जेल, आई यह रिपोर्ट


बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव अपने बड़े बेटे तेज प्रताप यादव की शादी में शामिल होने कब और कैसे जाएंगे, यह अभी तय नहीं हुआ है। अगर सभी कानूनी अड़चनें दूर कर दी गई तो गुरुवार को लालू बेटे तेजप्रताप की शादी में शामिल होने पटना रवाना हो सकते हैं। लेकिन बारात में जाने से पहले उन्‍हें कानूनी प्रक्रियाएं पूरी करनी पड़ेगी। इसके लिए उन्‍हें रिम्‍स से जेल जाना होगा।

बता दें कि बुधवार शाम 5.50 बजे उन्हें फ्लाइट से पटना जाना था। यह लगभग तय भी हो गया था। इधर पटना में लालू यादव के आने की खबर से परिवारवालों से लेकर समर्थकों की खुशियां बढ़ गई थी। इसे लेकर लालू प्रसाद यादव ने खुद ही रांची से पटना के लिए इंडिगो का टिकट करवाया था, लेकिन फ्लाइट छूटने से एक घंटा पहले उन्होंने अपना टिकट कैंसिल करवा लिया।

बिहार के राजद विधायक भोला यादव ने लालू के पेरोल में विलंब होने के पीछे साजिश की आशंका जताई है। इसके बाद बुधवार शाम से उनका मोबाइल भी बंद हो गया। वहीं देर रात फिर मेडिकल बोर्ड की टीम की बैठक हुई, स्वास्थ्य रिपोर्ट की समीक्षा के बाद डाक्टरों की आम राय बनी कि लालू प्रसाद को बाहर भेजा जा सकता है।

मेडिकल बोर्ड ने रात 11.45 बजे जेल अधीक्षक को अपने निर्णय से अवगत करा दिया। इससे पूर्व मंगलवार की रात छह डॉक्टरों की मेडिकल बोर्ड से लालू के स्वास्थ्य की जांच करवाई गई, जिसमें बोर्ड ने भी लालू को यात्रा के लिए फिट करार दिया था। हालांकि, जेल महानिरीक्षक की ओर से बुधवार रात 12 बजे तक लालू के पेरोल पर कोई निर्णय नहीं लिया जा सका है।

विश्वस्त सूत्रों की मानें तो लालू प्रसाद को गुरुवार को 10 से 14 मई तक पेरोल की स्वीकृति मिल जानी है। ऐसे में संभावना यह जताई जा रही है कि वे 10 मई को पटना के लिए रवाना हो सकते हैं। गौरतलब है कि पटना में लालू के बड़े बेटे तेज प्रताप की शादी 12 मई को निर्धारित है।

लालू को निरंतर करना होगा दवाओं का सेवन

रिम्स में प्रभारी निदेशक डॉ आरके श्रीवास्तव की अध्यक्षता में मेडिकल बोर्ड की बैठक बुधवार की रात लगभग 11 45 बजे संपन्न हुई। लालू प्रसाद की स्वास्थ्य रिपोर्ट की समीक्षा के बाद निदेशक ने बताया कि लालू प्रसाद कई बीमारियों से ग्रसित हैं। डॉक्टरों की सर्वसम्मति से राय बनी है कि लालू प्रसाद को बाहर भेजा जा सकता है। लेकिन उन्हें निरंतर बताई गई दवाओं का सेवन करना होगा एवं एम्स तथा रिम्स के चिकिसकों के बताए गए निर्देशों का पालन करना होगा। बोर्ड की बैठक में रिम्स अधीक्षक डॉ विवेक कश्यप, मेडिसिन के डॉ उमेश प्रसाद, कार्डियो के डॉ प्रकाश कुमार व अन्य उपस्थित थे। निदेशक ने बताया कि बोर्ड के निर्णय से जेल अधीक्षक को अवगत करा दिया गया है।

बगैर कोर्ट की अनुमति व सूचना के पटना जाने की तैयारी में थे लालू

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद कोर्ट से बिना अनुमति व सूचना के पटना जाने की तैयारी में थे। कानून के विशेषज्ञ अधिवक्ताओं की मानें तो लालू प्रसाद इस मामले में जमानत पर भले हैं लेकिन वर्तमान में वे डोरंडा मामले में भी जेल में हैं। ऐसी स्थिति में उन्हें अनुमति लेनी चाहिए या इस संबंध में जेल प्रशासन को कोर्ट को सूचना देनी चाहिए थी, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। ऐसे में लालू प्रसाद पटना जाते तो जेल प्रशासन को कोर्ट में जवाब देना पड़ सकता था।

डोरंडा मामले में लालू फेस कर रहे ट्रायल

लालू प्रसाद डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी से संबंधित चारा घोटाला मामले में भी अभियुक्त हैं। मामले में वे ट्रायल फेस कर रहे हैं। सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश प्रदीप कुमार की अदालत में सुनवाई चल रही है। जमानत पर होने के बावजूद वे न्यायिक हिरासत में हैं। अस्पताल में इलाजरत होने की वजह से उन्हें अदालत में वीडियो कांफ्रेंसिंग व सशरीर पेशी से छूट मिली है। अधिवक्ता के माध्यम से उनकी हाजिरी लगती है। अदालत में अभी डे टू डे सुनवाई के दौरान सीबीआइ की ओर से गवाही की प्रक्रिया चल रही है।

लालू की तबीयत में सुधार

रिम्स में भर्ती लालू प्रसाद की तबीयत में काफी सुधार है। बुधवार को उनका ब्लड शुगर फास्टिंग में 112 रहा। मंगलवार को यह 154 और रविवार को 214 था। बुधवार को पल्स रेट 72, ब्लड प्रेशर 130/80 रहा। रिम्स के प्रभारी निदेशक डॉ. आरके श्रीवास्तव ने बुधवार को बताया कि लालू प्रसाद की स्थिति स्थिर बनी हुई है। उनका डायबिटीज, पथरी, प्रोस्टेट बढ़ा हुआ है, दाहिनी आंख में शिकायत के साथ अन्य बीमारियां भी हैं। मंगलवार की रात में ही चिकित्सकों की बैठक हुई। इसमें लालू प्रसाद के स्वास्थ्य की समीक्षा की गई। चिकित्सकों ने सारी दवाएं समय पर लेने की ताकीद करते हुए एम्स तथा रिम्स के विशेषज्ञों के निर्देशों का पालन करते हुए बाहर जाने की अनुमति देने का निर्णय लिया। चिकित्सकों के निर्णय संबंधी रिपोर्ट रात में ही जेल प्रबंधन को भेज दी गई थी।

लालू ने बेटे की शादी के बाद खाजा खिलाने का किया वादा

सुबह लालू प्रसाद से मिलने गए चिकित्सक एवं कर्मियों के अनुसार आज दिनभर वे काफी खुश नजर आए। उन्हें पटना रवाना होने की उम्मीद थी। उनकी जांच करने गए कर्मियों ने उनसे बेटे की शादी की मिठाई को लेकर कहा। इस पर लालू प्रसाद ने कहा कि शादी बाद खाजा खिलाएंगे।
इनपुट:JMB

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

कानूनी पेंच में फंसे लालू, बेटे की बारात से पहले जाना पड़ सकता है जेल, आई यह रिपोर्ट

log in

reset password

Back to
log in
error: Content is protected !!